व्यंग

दो दुना चार होता है लेकिन आप कह रहे हैं छह होता है तो छह ही होगा

दो दुना छह होता है ।

क्यों ?

क्योंकि मैं कह रहा हूं ।

जी सर , सही कहा आपने । दो दुना चार होता है लेकिन आप कह रहे हैं छह होता है तो छह ही होगा ।

देखो तुम अभी भी गलत कह रहे हो । चार का बिल्कुल भी उल्लेख नहीं करना है ।

ठीक है सर ! दो दुना चार होता है । आप कह रहे हैं छह होता है तो मैं मान लेता हूं कि छह ही होगा । लेकिन आप यह भी कह रहे हैं कि चार का उल्लेख नहीं करना है , तो मैं आगे से चार का उल्लेख कतई नहीं करूंगा ।

अजीब आदमी हो । तुम्हे बोला न चार का उल्लेख नहीं करना है । तुम चालाकी क्यों दिखा रहे हो ।

सर मैं चालाकी नहीं दिखा रहा हूं । आप कह रहे हैं चार का उल्लेख नहीं करना है तो मैं चार का उल्लेख नहीं करूंगा ।

देख… तूने फिर से बोला ।
अच्छा छोड़ , तू ये बता , दो दूना कितना होता है ?

सर , बगैर चार का उल्लेख किए कहना चाहता हूं कि इसका जवाब छह होगा ।

तूने मना करने के बावजूद फिर से चार का उल्लेख किया ।

सर , मैंने चार का उल्लेख नहीं किया ।

देख तूने अभी फिर से बोला ।

सर , क्या बोला ?

चार ।

सर , ये तो आप कह रहे हैं । मैंने तो सिर्फ इतना कहा कि मैंने चार का उल्लेख नहीं किया ।

तुम सोचते हो मैं अपना सर फोड़ लूंगा । तुम एक दिन जरूर बोलोगे की दो दूना छह होता है । क्योंकि ऐसा मैंने कहा है ।

जी , सर । मैं चार का उल्लेख तक न करूंगा । मेरा जवाब छह ही होगा ।

उफ्फ ..क्या तुम्हे समझ नहीं आता । दो दूनी चार नहीं छह होता है । तुम्हारी सुई चार पर ही क्यों अटकी है

सर , क्योंकि दो दूना चार होता है लेकिन आप छह कह रहे हैं तो छह ही होगा । मैं चार पर बिल्कुल भी नहीं अटकना चाहता । मैं तो आपकी बात का समर्थन ही कर रहा हूं ।

अबे , हमें इस चार का नामो निशान मिटा देना है । इतना भी नहीं समझता तू । ये तभी संभव है जब दो दूनी छह के संदर्भ में चार का उल्लेख कहीं न हो । तू क्यों नहीं समझता ।

सर , मैं सब समझता हूं । चार का उल्लेख न करने से छह का अस्तित्व समाप्त हो जाएगा । इसलिए मुझे दो दूनी चार कहने की बजाय छह कहना होगा ।

उफ्फ । अच्छा , चल एक बार फिर से बता दे.
दो दूना कितना होता है ।

सर , चार का अस्तित्व समाप्त करना है इसलिए बगैर इसका उल्लेख किए मेरा जवाब है छह ।

तेरा कुछ नहीं हो सकता । तुझे समझाना असंभव है ।

जी सर , सही कहा आपने । ठीक उसी तरह जैसे दो दूना चार को छह कहना असंभव है ।

मध्यमार्ग से जुड़ने के लिए शुक्रिया, हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए हमारी आर्थिक मदद करें