ख़बरें

झारखंड़ के गढ़वा में आदिवासी युवक जल गया जिंदा, लोग लेते रहे फोटो

गढ़वा। झारखंड़ के गढ़वा में एक ख़बर आग की तरह फैली की नगर उंटारी और धुरकी मुख्य सड़क पर एक आदिवासी युवक जले हालत में पड़ा हुआ है लेकिन कोई मदद को आगे नहीं आया। मुख्य सड़क पर युवक जला हुुुआ पड़ा था और तड़पता हुआ लोगों से मदद की गुहार लगा रहा था। बहुत से लोग दौड़े-दौड़े वहां पहुंचे, पुलिस को भी सूचना मिली और पत्रकारों को भी।

मानवीय संवेदना हुई तार-तार

सभी वहां दौड़े पड़े लेकिन किसी ने उसे इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती नहीं कराया। चाहे वह आम आदमी हो, पुलिसकर्मी हों या पत्रकार कोई युवक की मदद के लिए आगे नहीं आया। सभी उसकी तस्वीर उतारने में व्यस्त रहे। वह तड़प-तड़पकर पल-पल मौत के करीब पहुंचता रहा लेकिन किसी की संवेदना नहीं जागी। किसी ने नहीं सोचा कि इस असहाय युवक को अस्पताल पहुंचायें।

मोबाइल में लाइव मौत को कैद करते रहे लोग

सभी अपने मोबाइल में लाइव मौत को कैद करते करने के लिए उतावले दिखे। हद तो तब हो गयी जब एक निजी चैनल के पत्रकार ने यहां तक कह डाला कि ‘’अभी मत मरो, अभी मत मरो प्रशासन आ रहा है।‘’

युवक तड़पते हुए इस दुनिया से विदा हो गया। मृतक शक्ति गांव का रहनेवाला था। सूचना पा कर पहुंचे मृतक के भाई ने बताया कि उसे भी ख़बर मिली तो वह यहां पहुंचा।

मुझे सिर्फ पोस्‍टमार्टम का मिला जिम्‍मा : पुलिस कांस्‍टेबल

मरने के बाद खानापूर्ति करने पहुंचे थाने के कांस्‍टेबल ने बताया कि उसे शव का पोस्टमार्टम कराने का जिम्मा मिला है, सो अपनी ड्यूटी निभा रहे हैं।

(टीम मध्‍यमार्ग)

मध्यमार्ग से जुड़ने के लिए शुक्रिया, हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए हमारी आर्थिक मदद करें