ख़बरें विदेश

आगरा में स्विस कपल की लाठी-डडों से पिटाई, लहुलुहान पड़ा रहा विदेशी जोड़ा, लोग लेते रहे फोटो

आगरा। योगी के सत्‍ता में आने के बाद से किस तरह गुड़े बदमाश सक्रिय हो गए है, इसका एक और उदाहरण यूपी के आगरा में बाखूबी देखने को मिला है। भारत घूमने आए स्विस प्रेमी जोड़े को यूपी के फतेहपुर सीकरी में ऐसी परिस्थितियों का सामना करना पड़ा, जिसके बारे में उन्होंने कभी सपने में भी नहीं सोचा होगा।

लाठी ड़डों से की पिटाई, सड़क पर बेसुध और लहुलुहान पड़ा रहा विदेशी जोड़ा

 

रविवार को फतेहपुर सीकरी में युवाओं के समूह ने पत्थर और डंडों से स्विटजरलैंड के लुजाने के रहने वाले प्रेमी जोड़े पर हमला कर दिया। खून से लथपथ विदेशी पर्यटक सड़क पर पड़े हुए थे और राहगीर विडियो बनाते रहे।

सुषमा स्‍वराज ने जताई घटना पर नारजगी

 

इस बीच विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने विदेशियों की पिटाई पर सख्त नाराजगी जताई है और उन्होंने राज्य सरकार से जवाब मांगा है। सुषमा के निर्देश पर विदेश मंत्रालय के अधिकारी दिल्ली के अपोलो अस्पताल में भर्ती स्विस प्रेमी जोड़े से मिलने पहुंचे।

इस शर्मनाक घटना पर पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भी ऐंटी-रोमियो स्क्वॉड पर सवाल उठाए हैं। 

 

लखनऊ में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में अखिलेश ने कहा, ‘ऐंटी-रोमियो स्क्वॉड का क्या हुआ? फतेहपुर सीकरी में सेल्फी ले रहे एक कपल को पीटा जाता है।’ उन्होंने कहा कि प्रदेश में लूट और अपराध बढ़ गए हैं। उधर, इस मामले में 4 अज्ञात लोगों के खिलाफ पुलिस ने FIR दर्ज कर 1 आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

दिल्‍ली के अस्‍पताल में भर्ती है स्विस कपल

पिछले महीने 30 सितंबर को अपनी गर्लफ्रेंड मेरी द्रोज के साथ भारत आए क्यून्टीन जेर्मी क्लॉर्क दिल्ली के एक अस्पताल में भर्ती हैं। उन्होंने बताया कि रविवार को फतेहपुर सीकरी रेलवे स्टेशन के नजदीक घूम रहे थे। इसी बीच युवाओं के एक समूह ने उनका पीछा करना शुरू कर दिया। द्रोज ने कहा, ‘शुरू में उन्होंने कमेंट किया जिसे हम समझ नहीं सके और बाद में उन्होंने जबरन हमें रोक लिया ताकि मेरे साथ सेल्फी ले सकें।’

विदेशी जोड़े को आई है गंभीर चोटें

स्विस पर्यटकों से अनजान युवकों की ये मुलाकात जल्द ही हमले में बदल गई। पीछा कर रहे युवाओं ने क्लॉर्क का सिर फोड़ दिया। क्लॉर्क का इलाज कर रहे डॉक्टरों ने बताया कि उन्हें अब एक कान से कम सुनाई देगा। इस हमले में उनकी गर्लफ्रेंड को भी चोटें आई हैं। क्लॉर्क ने बताया कि हमले के बाद हम खून से लथपथ होकर सड़क पर पड़े हुए थे और आसपास गुजरने वाले लोग इलाज कराने की बजाय मोबाइल से विडियो बना रहे थे। 
क्लॉर्क ने कहा, ‘विरोध के बाद भी उन लड़कों ने हमारा पीछा करना बंद नहीं किया। पूरे रास्ते वे लोग फोटो लेते रहे और मेरी के करीब जाने का प्रयास करते रहे। जितना हम समझ सके, उससे ऐसा लगता है कि भीड़ हमारा नाम और हमारे देश के बारे में जानना चाहती थी।

वे लोग हमें अपने साथ कुछ जगहों पर ले जाना चाहते थे जिसे हमने मना कर दिया। इसके बाद उन्होंने पत्थरों और डंडों से मुझ पर हमला कर दिया। जब मैरी ने मुझे बचाना चाहा तो उसे भी पीटा गया।’

इस मामले में आगरा पुलिस ने एक मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

(टीम मध्‍यमार्ग)

मध्यमार्ग से जुड़ने के लिए शुक्रिया, हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए हमारी आर्थिक मदद करें