ख़बरें

बीजेपी चाहे कितनी भी सफाई दे, वह एसी,एसटी और ओबीसी का हित नहीं कर सकती – मायावती

अहमाबाद। बीएसपी अध्यक्ष और यूपी की पूर्व सीएम मायावती ने बीजेपी और आरएसएस को जमकर घेरा।मायावती ने बीजेपी सरकार की नीतियों की आलोचना करते हुए बहुजन समाज को इनसे सावधान रहने की अपील की। बीएसपी अध्यक्ष मायावती ने पीएम मोदी के घर गुजरात में चुनावी बिगुल फूंका।

मायावती ने कहा

बीजेपी चाहे कितनी ही सफाई दे कि वह एससी और ओबीसी के साथ है लेकिन इनके झांसे में नहीं आना चाहिए। बीजेपी का चेहरा दिखावटी है, इसके नेता कहते कुछ हैं और करते कुछ हैं।

वड़ोदरा में जनसभा को संबोधित करते हुए मायावती ने पीएम मोदी पर जमकर हमला बोला। मायावती ने कहा, प्रधानमंत्री मोदी वोट बैंक बढ़ाने के लिए संविधान निर्माता बाबा साहब भीमराव अंबेडकर का इस्तेमाल कर रहे हैं। ये पीएम की सोची समझी नीति है, जिसके तहत वह बहुजनों को अपने पक्ष में करने की जी तोड़ कोशिश कर रहे हैं।

मायावती ने बहुजन समाज को सचेत करते हुए कहा, बीजेपी के ओबीसी एवं एससी नेता चाहे प्रधानमंत्री बन जाएं चाहे मुख्यमंत्री लेकिन वे हमेशा आरएसएस के बंधुआ मजदूर बनें रहेंगे। बगैर आरएसएस और बीजेपी के आदेश के वह कोई काम नहीं कर पाएंगे।

पढ़ें- मायावती का बड़ा आरोप- सहारनपुर की आड़ में बीजेपी ने रची थी मेरी हत्या की साजिश

बौद्ध धर्म ग्रहण करने की कही बात-

मायावती ने कहा, बीजेपी की सामंतवादी सोच है। ये पार्टी आज भी बहुजनों के खिलाफ जातिगत भेदभाव करती है। मायावती ने चेतावनी देते हुए कहा, अगर धार्मिक नेता बहुजनों के प्रति अपनी सोच में बदलाव नहीं लाए तो बड़ी संख्या में उनके समर्थक बौद्ध धर्म स्वीकार कर लेंगे।

बीएसपी ने गुजरात विधान सभा चुनाव अकेले लड़ने का ऐलान किया है। बहुजन समाज पार्टी गुजरात में सभी विधानसभा सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारेगी।

पार्टी महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा के मुताबिक, बीएसपी गुजरात में चुनाव लड़ने के लिए तैयार है और आने वाले दिनों में बीएसपी पूरे दमखम के साथ गुजरात में चुनाव प्रचार करेगी।

पढ़ें- मायावती के बाद राहुल गांधी ने भी लालू की रैली से किया किनारा

 

(टीम मध्यमार्ग)